शुरुआत नयी ज़िन्दगी की….

 चल अब करते हैं शुरुआत नयी ज़िन्दगी की, कुछ हँसी तू बाँट कुछ ख़ुशी मैं बांटू, न होंगे मायूस कभी हम ग़में आलम, कुछ दर्द तू बाँट कुछ दर्द मैं बांटू। – सविता निकम