Khat Ka Jawab ….

वो जो खत तुमने लिखा था मुझको, बसा है दिल के चमन में बहार की तरह, ख़त में मोहब्बत की खुश्बू, महक रही है चंदन की तरह, इसको पढता हूँ और चूमता हूँ बार-बार, बड़ा हसीन है ये सनम तेरी तरह, सीने से लगाता हूँ जब भी इसे, एहसास […]

Read More